About Me

My photo
The Madman, "Yes, three days, three centuries, three aeons. Strange they would always weigh and measure. It is always a sundial and a pair of scales."

Sunday, August 25, 2013

शौक़

मेरी डायरी के पन्ने
ऊब गए हैं 
ख़ाली पड़े पड़े.
कहते हैं,
कुछ तो बात हो 
ख़्यालों से.
मुझे आते-जाते देख 
ताकते हैं ऐसे 
जैसे मुरझा जायेंगे 
बिना स्याही की नमी के.
इन्हें बताऊँ तो कैसे,
अपने शौक़ 
बदल रहा हूँ.

No comments:

Post a Comment